Pages

Search This Website

Monday, October 3, 2016

*खुद की तरक्की में इतना समय लगा दो...*

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
खुद की तरक्की में इतना
      समय लगा दो
की किसी ओर की बुराई
   का वक्त ही ना मिले......
"क्यों घबराते हो दुख होने से,
जीवन का प्रारंभ ही हुआ है रोने से..
नफरतों के बाजार में जीने का अलग ही मजा है...
लोग "रूलाना" नहीं छोडते...
और हम "हसना" नहीं छोडते..
  🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

No comments:

Post a Comment