Pages

Search This Website

Saturday, September 3, 2016

जहर

⬇⬇

*Zahar*     *OO7*

किसी ने  *जहर* कहा

तो

किसी ने शहद कहा

क्योंकि कोई समझ नही पाया

जायका_मोहब्बत का.....

⬇⬇

*Zahar*     *007*

तेरे  होठों  से  दो  घूंट  जाम  क्या  पी लीया.....

दिल  को  चढ़  गया

इश्क  का  *जहर*

*KK*

⬇⬇
*Zahar*    *OO7*

" बहूत  डर  लगता है  मुझे  उन   लोगों  से""

जो

बातों में  मिठास "

और

दिलमें '  *जहर*' रखते हैं..

*KK*

No comments:

Post a Comment

ANUKRAMANIKA