Pages

Search This Website

Monday, November 23, 2015

कौन अपनी बरबादी को भूल सकता हैं.

तुझे क्या लगता हैं मुझे तेरी याद नहीं आती,

पगली कौन अपनी बरबादी को भूल सकता हैं.

No comments:

Post a Comment