Pages

Search This Website

Monday, November 30, 2015

फिर सहा नहीं जाता!


जब तक तुम्हें न देखूं!
दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं!
तो फिर सहा नहीं जाता!

No comments:

Post a Comment