Pages

Search This Website

Showing posts with label पुराना प्यार. Show all posts
Showing posts with label पुराना प्यार. Show all posts

Monday, September 5, 2016

*मुनाफे की बात नहीं होती हमारे कारोबार में,* *हम आईना बेचा करते हैँ अंधों के बाजार में.*

तेरी बेवफाई ने मेरा

ये हाल कर दिया है;
मैं नहीं रोता

लोग मुझे देख कर रोते हैं!

PAGAL SHAYAR
⬇⬇

कुछ लोग आते है जिंदगी में,
सिर्फ हमें रुलाने के लिये !!

MR...KK

⬇⬇

शायद उसने दरिया में ड़ाल दी होगी,
मेरी मोहब्बत भी तो  एक नेकी ही थी !!

⬇⬇

उस पे मुहब्बत आती हे ऎसे...
जूठ पे यकींन आता हे जेसे..

MR...KK

⬇⬇

कोई मेरी आवाज को खामोश कर गया,,,
____🌹_🌹_🌹___
तब से मे बोलता नही
सिर्फ लिखता हूँ__

SHAYAR...KK

⬇⬇

_*कौन कहता है पैसा,*_

_*सबकुछ खरीद सकता है...!!!*_

_*दम है तो टूटे हुएँ,*_

_*विश्वास को पाकर दिखाएँ...!!!  MR..KK✍*

⬇⬇

मेरी शायरियों से मशहूर है तू इस क़दर मेरे शहर में......!!
.
दीदार किसी ने किया नहीं मगर,,,,, तारीफें हर ज़ुबान पर हैं.......!!!

MR...SHAYAR
⬇⬇

काश कुछ ऐसे सिलसिले हो जाए,
हम मिट जाए या फांसले मिट जाए ...

MR...KK

⬇⬇
काश जिन्दगी में मौत यूँ आए,
बाहों में तेरे सिर हो और मेरी रुह चली जाए ...

MR...KK

⬇⬇
काश मेरा दिल भी पत्थर का होता,
कितनी भी चोट लगे असर ना होता ...

MR...KK
⬇⬇
काश ये पल थम जाए,
और आपके हम हो जाए ...

MR...KK
⬇⬇
शतरंज में वज़ीर ओर ज़िंदगी में ज़मीर
     
अगर मर जाये तो, समझना खेल ख़त्म

Read More »

*इजाजत तो उसने भी न दी थी हमे मोहब्बत की पगली शायरी पे वाह-वाह करती रही और हम तबाह होते गए*

दिल लगाकर तो देखो भले ना करना निक़ाह तुम।

एक बार करो तो सही मोहब्बत का गुनाह तुम

MR...KK

⬇⬇

बड़े अजीब तरीके से मेरा कत्ल करवाया गया

सुई से जख्म दिये और तलवार से मरहम लगाया गया         *.........*

⬇⬇
बहाना कोई ना बनाओ तुम मुझसे ख़फ़ा होने का,

तुम्हें चाहने के अलावा कोई गुनाह नहीं है मेरा,

⬇⬇

रंगों से बनाई जीवन की रंगोली
सितारों से हर शाम सजाई
मेंरे मुखड़े के दीदार को उसने ,ज़माने को दी मुँह दिखाई..

⬇⬇

हमने कब माँगा है तुमसे वफाओं का सिलसिला..! बस दर्द देते रहा करो मोहब्बत बढ़ती जायेगी..!

⬇⬇

बिछड़कर फिर मिलोगे यकीन कितना था,,,,,
बेशक ख्वाब था मगर हसीन कितना था

⬇⬇

दर्द सहने की इतनी
आदत सी हो गई हैं कि
अब दर्द ना मिले तो दर्द सा होता हैं!!

⬇⬇

वो तब भी थी, अब भी है और हमेशा ही रहेगी ..
ये मोहब्बत है …..
कोई तालीम नहीं जो पूरी हो जाएं ..!!
⬇⬇

लोग अक्सर मुझसे कहते हैं कि,
बदल गये हो तुम मैं मुस्कुरा कर,
कहता हूँ कि 'टूटे हुये फूलों' का रंग,
अक्सर बदल जाया करता ह..........

⬇⬇

जिस्मों की चाहत ने ,,
इश्क़ को बदनाम कर दिया ,,
वरना
इश्क़ तो आज भी राधा और
श्याम को
ढूँढता है !

⬇⬇
मै वह हारा हुआ BADSHAH हु
जो सभी का दिल जीतने के बाबजूद भी
उसका DIL न जीत सका  जिनसे हम बेहद प्यार करते हैं..

Read More »

*शायरी से भरे पन्नों को छूकर देखना कभी कोई दिल वहाँ भी धड़का करता है..*

अंदाज़ा दर्द का... कोई लगाए भी कैसे...

जब तलक तजुर्बा कोई अपना नहीं होता !!

MR...KK

⬇⬇

_तुझे भूलकर हम करें भी तो क्या_....

  --जानेमन

_इकलौता शौक है तू मेरी जिंदगी का_MR...KK

⬇⬇

प्यार तो तक़दीर में
लिखा होता है,

किसी के तड़पने से
कोई किसी का नही होता....

MR...KK

⬇⬇

किसपे ड़ाले ईल्जाम-ऐ-बर्बादी का हमारी ।।

घूम फिर के उंगली खुद के दिल पे आती हैं..

MR...KK

⬇⬇

कैसे बेवफा कहूं ,,,,
उस शख़्स को,,,,,,,
,,
दोस्तों
,,
साथ तो ये जिन्दगी
भी नही देगी ,,,,,,,

MR...KK
⬇⬇

कहाँ वफा का सिला देते हैं लोग,
अब तो मोहब्बत की सजा देते हैं लोग,
पहले सजाते हैं दिलो में चाहतों का ख्वाब
फिर ऐतबार को आग लगा देते हैं लोग

⬇⬇

उन्होंने वक़्त समझकर गुज़ार दिया हमको

और हम…

उनको ज़िन्दगी समझकर आज भी जी रहे हैं।

⬇⬇

कभी कभी मेरी आँखे यूँ ही रो पड़ती है
में इनको कैसे समझाऊ...
कि कोई शख्श
सिर्फ चाहने से अपना नहीं होता

⬇⬇
मेरे हाथों में इक शक्ल चाँद जैसी थी .

तुम्हे ये कैसे बतायें वो रात कैसी थी..

MR...KK

Read More »

Sunday, August 28, 2016

कहीं यादों का मुकाबला हो तो बताना..

कहीं यादों का मुकाबला हो तो बताना....
जनाब
हमारे पास भी किसी की यादें बेहिसाब होती जा रही हैं...

Read More »

Thursday, August 25, 2016

*आंसुओं थी सागर भराशे*

Read More »

Friday, July 8, 2016

बर्बादी को कोन भूल सकता है.

वो बोले क्या अब भी
हमारी याद आती है…!!!!
:
:
हमने भी हसकर बोला अपनी
बर्बादी को कोन भूल सकता है...

Read More »

Thursday, April 14, 2016

जो काटो से भी गहरी चुबन दे गया ..

एक दिल मेरे दिल को ज़ख़्म दे गया,
ज़िंदगी भर ना मिलने की कसम दे गया....____________________

लाख फूलों में से चुना था एक फूल,
जो काटो से भी गहरी चुबन दे गया ..

❣........a................s....✍

Read More »

Monday, April 4, 2016

याद वही आते हैं जो उड़ जाते हैं।

आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की,

लम्हें तो अपने आप मिल जाते हैं,

कौन पूछता है पिंजरे में बंद परिंदों को,

याद वही आते हैं जो उड़ जाते हैं।

Read More »

इतना चाहा कि उसे भुला न सके।

खुशी मिली तो मुस्कुरा न सके,

गम मिला तो आंसू बहा न सके,

जिन्दगी का यही राज है,

जिसे चाहा उसे पा न सके,

औऱ इतना चाहा कि उसे भुला न सके।

Read More »

Wednesday, February 17, 2016

अपने सुकून की खातिर, तुझे रुला नहीं सकता|

मत सोच कि मैं तुझे भुला नहीं सकता, तेरी यादों के पन्ने मैं जला नहीं सकता, कश्मकश ये है कि खुद को मारना होगा, और अपने सुकून की खातिर, तुझे रुला नहीं सकता|

Read More »

मैं उनकी दुहाई पे नहीं लिखता…..!!

उनको ये शिकायत है कि मैं बेवफाई पे नहीं लिखता, और मैं सोचता हूं कि मैं उनकी रुसवाई पे नहीं लिखता..
ख़ुद अपने से ज्यादा बुरा जमाने में कौन है?
मैं इसलिए औरों की बुराई पे नहीं लिखता..
कुछ तो आदत से मजबूर हैं और कुछ फितरतों की पसंद है जख्म कितने भी गहरे हों,
मैं उनकी दुहाई पे नहीं लिखता…..!!

Read More »

आज भी मेरे फोन का लोक तेरे नाम से खूलता है !!

तुम शायद अब मुझे भूल गई होगी !
पर आज भी मेरे फोन का लोक तेरे नाम से खूलता है !!

Read More »

ना हम उनको भुला सके.

"ना वोह आ सके ना हम कभी जा सके,
ना दर्द दिल का किसी को सुना सके.
बस बैठे है यादों में उनकी,
ना उन्होंने याद किया और ना हम उनको भुला सके."

Read More »

Thursday, February 4, 2016

जिनके घर दरिया किनारे हैं...

कही पर गम,तो कही पर सरगम,
ये सारे कुदरत के नज़ारे हैं...

प्यासे तो वो भी रह जाते हैं,
जिनके घर दरिया किनारे हैं...

Read More »

Sunday, January 10, 2016

उसे छोड दिया जाये...!

तुझे पा ना सके, फिरभी सारी जिन्दगीं तुझे प्यार करेगे....!
ये जरूरी तो नही,....
जो मिल ना सके "
..उसे छोड दिया जाये...!

Read More »

Monday, November 30, 2015

तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम!


तुझे भूलकर भी न भूल पायेगें हम!
बस यही एक वादा निभा पायेगें हम!
मिटा देंगे खुद को भी जहाँ से लेकिन!
तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम!

Read More »

जब उसका हाथ तेरे हाथ में था.......।।

मेरा ज़मीर मुझसे कहता है, क्या देखती है अपने हाथ की लक़ीरों को.......??

वो तेरा तब भी नही था, जब उसका हाथ तेरे हाथ में था.......।।

Read More »

Thursday, November 26, 2015

तुमने तो कमाल कर डाला...!!!

हमने कहा था...!!!
.
अगर हमको भूल सको तो कमाल होगा...!!!
.
हमने तो सिर्फ बात की थी...!!!
.
तुमने तो कमाल कर डाला...!!!

Read More »

अब उसे ख़ुश भी ना देखू तों मोहब्बत कैसी...

वों मेरे बिना ख़ुश है तो शिकायत कैसी....

अब उसे ख़ुश भी ना देखू तों मोहब्बत कैसी....

Read More »

Monday, November 23, 2015

क्या कमी रह गई थी तेरा होने में...

अाज भी एक सवाल छिपा है, दिल के किसी कोने में,

क्या कमी रह गई थी तेरा होने में...

Read More »